भारत नहीं बल्कि इस मुस्लिम देश ने सबसे पहले उगाया था तरबूज, नाम जानकर नहीं होगा यकीन

Rate this post

तरबूज गर्मियों में खाया जाने वाला सबसे स्वादिष्ट और पसंदीदा फल है। तरबूज आपके शरीर में पानी की कमी को पूरा करता है क्योंकि इसमें 90-92% पानी होता है। इसमें विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन बी6, पोटैशियम और लाइकोपीन और बीटा-कैरोटीन जैसे एंटीऑक्सीडेंट जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं।

तरबूज का इतिहास

इसके अलावा, तरबूज पूरे भारत में हर छोटे गांव से लेकर बड़े शहरों में पाया जा सकता है। इस फल को खाना तो सभी को पसंद होता है, लेकिन क्या किसी को पता है कि सबसे पहली फसल कहां उगाई गई थी? शायद नहीं। तो आज हम चर्चा करेंगे कि तरबूज की शुरुआत कहां से और कैसे हुई।

तरबूज की उत्पत्ति कहाँ से हुई?

तरबूज को दुनिया के सबसे पुराने फलों में से एक के रूप में जाना जाता है, लेकिन इसका अवतरण कहां हुआ, इसके बारे में कोई पुख्ता जानकारी नहीं है। कहा जाता है कि लगभग 5,000 साल पहले मिस्र के मकबरों की दीवारों पर तरबूज दिखाई दिया था। इसके अलावा तरबूज का जन्म अफ्रीका के गर्म रेगिस्तानी इलाकों में भी बताया जाता है।

वहां से यह फल मध्य पूर्वी देशों जैसे ईरान, तुर्की आदि के व्यापारियों के माध्यम से भारत आया। कहा जाता है कि पहले तरबूजों में बाहर की तरफ धारीदार हरी त्वचा होती थी, लेकिन उनका रंग अंदर से पीला होता था। इसका कारण लाइकोपीन नामक एंटीऑक्सीडेंट की कमी है।

वैसे तो तरबूज ककड़ी, ककड़ी और खरबूजे के परिवार से आता है और गर्मियों में पैदा होता है, इसलिए इसे मौसमी फल के रूप में जाना जाता है। हालांकि एक देश ऐसा भी है जहां हर मौसम में इसे उगाया जाता है, वह है मेक्सिको।

गोल या अंडाकार आकार में मिलने वाला तरबूज जापान में अपना आकार बदलता है। जी हां, जापान में चौकोर तरबूज भी उगाए जाते हैं। आपको बता दें कि इस समय दुनिया भर में तरबूज की 1000 से ज्यादा किस्में मौजूद हैं।

तरबूज गर्मियों में खाए जाने वाले सबसे स्वादिष्ट और पसंदीदा फलों में से एक है। तरबूज आपके शरीर में पानी की कमी को पूरा करता है क्योंकि इसमें 90-92% पानी होता है। इसमें विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन बी6, पोटैशियम और लाइकोपीन और बीटा-कैरोटीन जैसे एंटीऑक्सीडेंट जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं।

इसके अलावा, तरबूज पूरे भारत में हर छोटे गांव से लेकर बड़े शहरों में पाया जा सकता है। इस फल को खाना तो सभी को पसंद होता है, लेकिन क्या किसी को पता है कि सबसे पहली फसल कहां उगाई गई थी? शायद नहीं। तो आज हम चर्चा करेंगे कि तरबूज की शुरुआत कहां से और कैसे हुई।

तरबूज को दुनिया के सबसे पुराने फलों में से एक के रूप में जाना जाता है, लेकिन इसका अवतरण कहां हुआ, इसके बारे में कोई पुख्ता जानकारी नहीं है। कहा जाता है कि लगभग 5,000 साल पहले मिस्र के मकबरों की दीवारों पर तरबूज दिखाई दिया था। इसके अलावा तरबूज का जन्म अफ्रीका के गर्म रेगिस्तानी इलाकों में भी बताया जाता है।

वहां से यह फल मध्य पूर्वी देशों जैसे ईरान, तुर्की आदि के व्यापारियों के माध्यम से भारत आया। कहा जाता है कि पहले तरबूजों में बाहर की तरफ धारीदार हरी त्वचा होती थी, लेकिन उनका रंग अंदर से पीला होता था। इसका कारण लाइकोपीन नामक एंटीऑक्सीडेंट की कमी है।

वैसे तो तरबूज ककड़ी, ककड़ी और खरबूजे के परिवार से आता है और गर्मियों में पैदा होता है, इसलिए इसे मौसमी फल के रूप में जाना जाता है। हालांकि एक देश ऐसा भी है जहां हर मौसम में इसे उगाया जाता है, वह है मेक्सिको।

गोल या अंडाकार आकार में मिलने वाला तरबूज जापान में अपना आकार बदलता है। जी हां, जापान में चौकोर तरबूज भी उगाए जाते हैं। आपको बता दें कि इस समय दुनिया भर में तरबूज की 1000 से ज्यादा किस्में मौजूद हैं।

Source Link: https://vikramuniv.net/not-india-but-this-muslim-country-was-the-first-to-grow-watermelon/

Home Page Click Here

Leave a Comment

Steve Harvey Slams Sherri Shepherd as ‘Worst’ Celebrity on Family Feud Idaho Stabbing Tragedy: Former Resident Returns One Day Before Fatal Attack Kendall Jenner slammed for not holding own umbrella, fans claim ‘she doesn’t care’ Dolphins’ Rookie QB Skylar Thompson Steps Up for Wild-Card Showdown Against Bills Havertz scores in emotional Chelsea win, honoring Vialli and signing Mudryk